समय समय पर महत्वपूर्ण अप्डेट्स पाने के लिए हमसे जुड़ें

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे, UP का पहला सोलर एक्सप्रेसवे होगा


 उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे यूपी का पहला सौर राजमार्ग होगा जहां पीपीपी मॉडल के तहत 550 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। यह परियोजना प्रतिदिन राजमार्ग से जुड़े 100,000 घरों को बिजली प्रदान करती है।

इसलिए बुन्देलखण्ड हाईवे पर सौर ऊर्जा प्लांट लगाया जा रहा है।
इस परियोजना के पूरा होने से हरित ऊर्जा का भी विस्तार होगा। बुन्देलखण्ड, पूर्वांचल, लखनऊ, आगरा और गोरखपुर राजमार्गों पर सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने से इस परियोजना से 6,000 करोड़ रुपये की वार्षिक ऊर्जा खपत भी होगी। यह सौर ऊर्जा प्लांट इसलिए लगाया जा रहा है क्योंकि यह बुन्देलखंड हाईवे के लिए बिल्कुल उपयुक्त है। यह भूमि तक आसान पहुंच, धूप वाले आसमान और लगभग 800-900 मिमी की औसत वार्षिक वर्षा वाला एक शुष्क क्षेत्र है।

यूपी में दो नए हाईवे बन रहे हैं

उत्तर प्रदेश में दो नए हाईवे भी बनाए जा रहे हैं. फरकाबाद को गंगा एक्सप्रेस-वे से जोड़ने का प्रस्ताव तैयार करने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने 17 नवंबर को एक विशेष बैठक की अध्यक्षता भी की थी. सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया कि गंगा एक्सप्रेसवे, बैरियर लिंक और गोरखपुर लिंक का काम समय पर और उत्कृष्ट गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाए. साथ ही सीएम योगी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस की सवारी गुणवत्ता को और बेहतर बनाने के लिए चल रहे रखरखाव के काम को समय पर पूरा करने की भी बात कही.