समय समय पर महत्वपूर्ण अप्डेट्स पाने के लिए हमसे जुड़ें

अनुच्छेद 370 को निरस्त करने पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला बड़ी बात है और वह 5 अगस्त 2019 को भारतीय संसद द्वारा लिए गए फैसले का समर्थन करते हैं.

मोदी ने यह भी कहा कि न्यायालय, जो बहुत कुछ जानता है, ने एकता में हमारे विश्वास को मजबूत किया है, जो भारतीयों के रूप में हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

आज सुप्रीम कोर्ट ने धारा 370 नामक नियम के बारे में एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय लिया। यह निर्णय भारत सरकार द्वारा अगस्त 2019 में लिए गए निर्णय का समर्थन करता है। यह जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के लिए एक बड़ा कदम है। न्यायालय, जो कानून के बारे में बहुत कुछ जानता है, ने भारतीयों के रूप में हमारी एकता को और भी मजबूत बना दिया है।

मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के मजबूत लोगों को पता चले कि हम उनके सपनों को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत करना जारी रखेंगे। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हम जो प्रगति कर रहे हैं, उससे हर किसी को, विशेषकर उन लोगों को, जो अतीत में छूट गए हैं, लाभ होगा।

आज का फैसला सिर्फ कानूनी फैसला नहीं है. यह आशा की किरण है, उज्जवल भविष्य का वादा है और एक मजबूत और अधिक एकजुट भारत के निर्माण के हमारे सामूहिक संकल्प का प्रमाण है। #न्यूजम्मूकश्मीर"

सुप्रीम कोर्ट ने आज धारा 370 नामक कानून को लेकर एक बेहद अहम फैसला सुनाया। यह फैसला उस फैसले का समर्थन करता है जो सरकार ने पिछले साल किया था। यह एक अच्छी बात है क्योंकि यह जम्मू, कश्मीर और लद्दाख नामक स्थान पर रहने वाले लोगों के लिए आशा, प्रगति और एकता लाता है। यह निर्णय हमारे देश को और भी मजबूत और एकजुट बनाता है, जो वास्तव में सभी भारतीयों के लिए महत्वपूर्ण है।

मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में मेरे परिवार के सदस्यों को पता चले कि हम उनके सपनों को साकार करने के लिए समर्पित हैं। हम यह सुनिश्चित करने का वादा करते हैं कि समाज में हर किसी को प्रगति और विकास से लाभ मिले। हम अनुच्छेद 370 से आहत किसी भी व्यक्ति को इन लाभों से वंचित नहीं होने देंगे।

आज का फैसला सिर्फ नियमों वाला कागज का टुकड़ा नहीं है, बल्कि ये बहुत सारी उम्मीदें भी लेकर आता है. इसका मतलब है कि हमारे पास एक सुखद भविष्य का मौका है और यह दर्शाता है कि हम सभी अपने देश को मजबूत और एकजुट बनाने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।