समय समय पर महत्वपूर्ण अप्डेट्स पाने के लिए हमसे जुड़ें

इंडसइंड बैंक ने 'इंडस सॉलिटेयर प्रोग्राम' का अनावरण किया

इंडसइंड बैंक ने 'इंडस सॉलिटेयर प्रोग्राम' का अनावरण किया

 इंडसइंड बैंक हीरा उद्योग में लोगों की मदद के लिए 'इंडस सॉलिटेयर प्रोग्राम' नामक एक विशेष योजना लेकर आया है। वे इस योजना को मुंबई और सूरत जैसे बड़े शहरों में अपनी मुख्य शाखाओं में शुरू करेंगे।

'इंडस सॉलिटेयर प्रोग्राम' सिर्फ एक नियमित बैंकिंग सेवा नहीं है। यह एक विशेष पैकेज है जो खासतौर पर हीरा उद्योग में काम करने वाले लोगों के लिए बनाया गया है। यह कई बेहतरीन लाभ प्रदान करता है जैसे कुछ शाखाओं में किसी भी समय लॉकर का उपयोग करने में सक्षम होना और आपके परिवार के लिए अतिरिक्त बैंक खाते होना। कार्यक्रम आपको विशेष सुविधाएं भी देता है जैसे फैंसी होटलों में रहना, निजी सहायक की मदद लेना और मुफ्त गोल्फ प्रशिक्षण और मूवी टिकट प्राप्त करना। अन्य देशों में अपने कार्ड का उपयोग करने पर आपको अतिरिक्त शुल्क भी नहीं देना होगा। आप निःशुल्क विशेष लाउंज में भी जा सकते हैं और अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने पर पुरस्कार अर्जित कर सकते हैं। यदि आप यात्रा के दौरान बीमार पड़ जाते हैं, तो कार्यक्रम आपके अस्पताल के खर्च को कवर करने में मदद करेगा। और यदि आप हीरा उद्योग में काम करते हैं, तो आप केवल अपने वेतन के लिए एक विशेष बैंक खाता रख सकते हैं।

प्रोग्राम द्वारा की जा सकने वाली सभी बेहतरीन चीज़ों के अलावा, इसमें रिलेशनशिप मैनेजर, सर्विस मैनेजर और वेल्थ मैनेजर नामक विशेष लोग भी होते हैं जो ग्राहकों को उनके पैसे और वित्तीय चीज़ों से मदद करने के लिए मौजूद होते हैं। वे यह सुनिश्चित करने के लिए सलाह और सहायता देंगे कि ग्राहकों को उनकी ज़रूरत की चीज़ें मिलें।

नया कार्यक्रम शुरू करने के साथ ही, इंडसइंड बैंक ने सूरत डायमंड बोर्स में एक नई शाखा खोली, जो दुनिया में हीरों के व्यापार के लिए सबसे बड़ी जगह है। यह विशेष शाखा सूरत में हीरों का काम करने वाले लोगों को विशेष बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने जा रही है, जिससे उन्हें उनके व्यवसाय और व्यक्तिगत धन संबंधी मामलों में मदद मिलेगी।

'इंडस सॉलिटेयर प्रोग्राम' हीरा उद्योग में लोगों की मदद के लिए इंडसइंड बैंक द्वारा बनाया गया एक विशेष कार्यक्रम है। इससे पता चलता है कि बैंक इस उद्योग में अपने ग्राहकों को विशेष वित्तीय सहायता देने के लिए और भी अधिक मेहनत कर रहा है।